Lien Account Meaning in Hindi – इसे कैसे हटाते हैं?

Lien Account Meaning in Hindi – नमस्कार दोस्तों! आज इस आर्टिकल में लीन अमाउंट क्या होता है और इसे कैसे हटाते हैं इस बारे में जानकारी हासिल करने वाले हैं। अक्सर आपके बैंक में राशि होती है लेकिन आप उसे राशि को निकाल नहीं पाते हो और बैंक वाले कहते हैं कि आपके अकाउंट में लीन अमाउंट लगा दिया गया है।

कहीं ना कहीं आपके दिमाग में भी यह सवाल आता होगा कि आखिरकार लीन अमाउंट क्या होता है और इससे बार-बार क्यों लगाया जाता है लीन अमाउंट को कैसे हटाते हैं ऐसे तमाम सवाल आपके दिमाग में घूमते होंगे और इसीलिए आपने आज इस आर्टिकल को खोल है क्योंकि आपको इन सभी सवालों के जवाब चाहिए तो आज मैं आपको इस आर्टिकल में क्लीन अमाउंट क्या होता है और इसे कैसे हटाते हैं यह सारी जानकारी देने वाला हूं।

अगर आपके भी बैंक में लीन अमाउंट लगा दिया गया है तो यह आर्टिकल बिल्कुल आप लोगों के लिए है। इस आर्टिकल में, मैं आपको यह भी बताऊंगा कि आखिरकार वह कौन से कारण होते हैं जिसके वजह से आपके बैंक अकाउंट को लीन अमाउंट में लगा दिया जाता है और आप अपने राशि को बाहर नहीं निकाल पाते हो।

आर्टिकल के अंत तक जरूर बन रहे क्योंकि अंत में! मैं इस विषय से संबंधित कई सारे सवालों के जवाब देने वाला हूं जो कि आगे चलकर आपके लिए बड़े ही काम का होने वाला है और आप इस आर्टिकल के मदद से आज बहुत कुछ नया सीखने वाले हैं तो चलिए बिना समय के बाद जानते हैं लीन अमाउंट क्या होता है?

Lien Account Meaning in Hindi 

लीन अमाउंट को हिंदी भाषा में “ग्रहणाअधिकार” राशि के नाम से जानते है और यह बैंक द्वारा लगाया जाता है। अगर आपके बैंक में कुछ धनराशि है और आप उस राशि को बाहर नहीं निकल पा रहे हैं तो यह समझ लीजिएगा कि आपके बैंक के द्वारा आपको लीन अमाउंट लगा दिया गया है। 

अगर मैं आपको आसान भाषा में समझाऊं तो लीन अमाउंट बैंक के द्वारा दिया गया एक ऐसा Tag होता है इसका मतलब यह होता है कि बैंक ने आपके रखे राशि को पूरी तरह से Lock कर दिया है और आप अब उसे राशि को बाहर नहीं निकाल सकते हैं। लीन अमाउंट को Hold Amount और लीन बैलेंस भी कहा जाता है।

जब आपके बैंक अकाउंट से हर महीने किसी चीज के लिए EMI कटती है जैसे कि अगर आपने टीवी लिया है अपने फ्रिज लिया है कोई भी वस्तु EMI के द्वारा आपके बैंक से कटती है और किसी महीने अगर आपके बैंक द्वारा EMI नहीं कटती है तो बैंक को आपके अकाउंट को लीन अमाउंट में डाल देते हैं।

Lien Amount लग जाने के बाद अगर आपके खाते में कोई भी धनराशि होती है तो आप उसे धनराशि को बाहर नहीं निकाल पाते हो क्योंकि बैंक EMI के बराबर काटने वाले राशि को होल्ड कर देती है जिसकी वजह से आप उसे राशि को बाहर नहीं निकाल पाते हो। लीन अमाउंट को हम लोग एक ताला के रूप में भी समझ सकते हैं जो की बैंक द्वारा लगाया जाता है। चलिए अब मैं आपको बताता हूं कि बैंक ऐसा क्यों करती है।


बैंक के द्वारा लीन अमाउंट क्यों लगाया जाता है?

बैंक के द्वारा लीन अमाउंट लगाने के कई सारे कारण हो सकते हैं मैं आपको इसके कुछ मुख्य कारण के बारे में बताता हूं जिसके वजह से आमतौर पर बैंक के द्वारा लीन अमाउंट लगा दिया जाता है अगर आप भी ऐसा गलती करते हैं तो ऐसा बिल्कुल भी ना करें जिसकी वजह से बैंक आपके अकाउंट को लीन अमाउंट नहीं लगाएगा।

  • भारतीय स्टेट बैंक के द्वारा किसी व्यक्ति के बैंक खाते में न्यूनतम राशि होना बहुत जरूरी है अक्सर आपने ऐसा सुना होगा की मेरे बैंक खाते में पैसा नहीं था काफी समय से और उसके बाद बैंक के द्वारा कुछ Fine लगा दिया गया है उसे मुझे भरना है ऐसा हमेशा होता है और ऐसा हर बैंक में होता है। 
  • अगर आप पर्याप्त राशि अपने बैंक खाते में नहीं रखते हैं तो बैंक वाले आपसे जुर्माना वसूल करते हैं। अगर आपके बैंक खाते में किसी चीज का भुगतान करने के लिए पर्याप्त राशि नहीं है तो उसे स्थिति में बैंक आपके अकाउंट को Lock कर देती है जिसे कि हम लोग लीन अमाउंट के नाम से जानते हैं।
  • Fixed Deposit के हालात में भी ऐसा देखा गया है कि इस स्थिति में आपके बैंक के द्वारा लीन अमाउंट लगा दिया जाता है। जिसका मतलब यह है कि अगर किसी ग्राहक ने लोन लेते समय सिक्योरिटी के रूप में अपने फिक्स डिपाजिट को रखा है तो उसे हालत में बैंक आपके अकाउंट को लीन अमाउंट में लगा देती है जब तक आप उनके लोन को चुका नहीं देते हो। 
  • ऐसा इसलिए होता है क्योंकि बैंक इस राशि को जो अपने बैंक से लोन लिया था उसको लीन अमाउंट के रूप में देखती है इस वजह से आपका अकाउंट लीन कर दिया जाता है।
  • अगर किसी हालत में ग्राहक अपने EMI और Loan चुकाने में असमर्थ रहता है तो इस हालत में भी बैंक उसे ग्राहक के अकाउंट को लीन अमाउंट में डाल देता है और जब तक आप अपने सारे लोन को चुका नहीं देते तब तक आपका लीन अमाउंट नहीं हटता है।
  • अगर बैंक आपके खाते में किसी भी गलत तरीके से ट्रांजैक्शन को देखते हैं तो उसे हालत में भी बैंक आपके अकाउंट को लीन अमाउंट में डाल देता है जिसकी वजह से आप अपने बैंक से किसी भी तरह से कोई भी ट्रांजैक्शन नहीं कर पाते हो।
  • अगर ग्राहक समय पर अपने टैक्स का भुगतान नहीं करता है तो भी उसे हालत में बैंक द्वारा उसे ग्राहक के अकाउंट को लीन अमाउंट में रख देता है।
  • मैंने जितने भी ऊपर कारण बताए हैं अगर इन सभी कारण में से आपका कोई भी कारण नहीं मिलता है उसके बावजूद भी आपके अकाउंट को लीन अमाउंट में लगा दिया है तो यह एक तरह का Technical Issue हो सकता है इसके लिए आपको अपने बैंक में जाना होगा और जाकर इस समस्या का समाधान लेना होगा।

बैंक लीन अमाउंट अपने पास क्यों रखती है? | Lien Account Meaning in Hindi

दोस्तों सबसे पहले मैं आपको यह बता दो कि अगर आपकी बैंक में बहुत ज्यादा धनराशि है और अगर आपकी बैंक के द्वारा लीन अमाउंट लगा दिया गया है तो इसका मतलब ऐसा नहीं होता है कि आपके सारे पैसे पर बैंक वालों ने लीन अमाउंट लगा दिया गया है। बैंक के द्वारा लीन अमाउंट सिर्फ उतने ही राशि पर लगाई जाती है जो कि आपके द्वारा EMI और Loans की भुगतान करने की राशि होती है।

और बैंक ऐसा इसलिए करती है ताकि भविष्य में ऐसी गलती आपसे दोबारा बिल्कुल ना हो और आप समय-समय पर हमेशा अपने EMI और Loans का भुगतान करते रहे। उदाहरण के तौर पर हम नीचे समझते हैं।

मान लीजिए अपने किसी चीज को EMI पर खरीदा है और आपके हर महीने की ईएमआई तकरीबन ₹5000 होता है लेकिन इस महीने किसी कारण से आपके बैंक अकाउंट में ₹5000 नहीं थे बल्कि ₹4000 थे इस वजह से आपका EMI इस महीने नहीं कटता है। तो इस हालत में अब बैंक आपके खाते को लीन अमाउंट में लगा देगी।

अगर आप अपने खाते में कुछ समय के बाद ₹5000 जमा करआते हैं तो बैंक पहले से ही उस EMI पेमेंट की राशि पर लीन अमाउंट लगा देगी। जिसका मतलब यह है कि 5000 जमा करने के बाद अब आपके बैंक खाते में ₹9000 हो चुके हैं जिसे आप पूरा ₹9000 नहीं निकाल पाएंगे क्योंकि आपके बैंक खाते में ₹5000 की लीन अमाउंट पहले से ही लगा दी गई है और इसका मतलब यह है कि आप सिर्फ ₹4000 अपने बैंक से निकाल सकते हैं या फिर ट्रांजैक्शन कर सकते हैं।


लीन अमाउंट कैसे चेक करे? | How to Check Lien Amount in Hindi 

लीन अमाउंट चेक करने के दो तरीके होते हैं पहले ऑनलाइन दूसरा ऑफलाइन अगर आप बैंक में नहीं जा सकते हैं या फिर नहीं जाना चाहते हैं तो आप ऑनलाइन तरीके का इस्तेमाल कर सकते हैं आप घर बैठे अपने मोबाइल फोन की मदद से अपने बैंक खाता में यह देख सकते हैं कि आपके अकाउंट को लीन अमाउंट लगा दिया गया है कि नहीं।

अगर आप Online Lien Amount Check करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको Mobile Banking या Internet Banking का इस्तेमाल करना होगा। इसके लिए आपको सबसे पहले आपके बैंक के ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा और इसके बाद आपको अपना Internet Banking Login कर लेना होगा।

इसके बाद आपको Account Information के अंतर्गत लीन अमाउंट से संबंधित सारी जानकारी को यह बता देगा कि आपके बैंक में लीन अमाउंट लगाई गई है कि नहीं लगाई गई है और अगर लीन अमाउंट लगा दी गई है तो कितने राशि पर इसे लगाया गया है यह सारी जानकारी आपको अकाउंट इनफार्मेशन के अंतर्गत मिल जाएगी।

दूसरा तरीका है ऑफलाइन तरीका इसमें आपको अपने बैंक के ब्रांच में जाना होगा और वहां पर आपको अपने Passbook को Update करना होगा। जैसे ही आपका पासबुक अपडेट हो जाएगा वहां पर कितना लीन अमाउंट लगाया गया है वह सब जानकारी आपके पासबुक पर आ जाएगी।


लीन अमाउंट को कैसे हटाए? | Lien Amount Ko Kaise Haatye 

क्लीन अमाउंट को कैसे हटाए? जब आपके बैंक अकाउंट में लीन अमाउंट लगा दिया जाता है तब आपको कई सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है और आप सोचते हैं कि जल्द से जल्द यह लीन अमाउंट है जाए तो चलिए मैं आपको लीन अमाउंट हटाने के तरीकों के बारे में बताता हूं।

जब आपके बैंक में लीन अमाउंट लगा दिया जाता है तो अब आप जितने राशि पर लीन अमाउंट लगाया जाता है उसे राशि को आप बैंक से नहीं निकाल पाओगे लेकिन अगर आप बैंक अकाउंट से लीन अमाउंट को निकालना चाहते हो तो इसके लिए सबसे पहले आपको बैंक में एक Request भेजनी होगी और इसके बाद अगर बैंक द्वारा आपकी रिक्वेस्ट को स्वीकार कर लेती है तो इसके बाद बैंक आपको आपके लीन अमाउंट को निकालने की इजाजत दे देती है और आप अब अपने लिए अमाउंट को आसानी से निकाल सकते हो।

लेकिन अगर आपने काफी समय से अपने Loans और EMI का भुगतान नहीं किया है तो शायद ही बैंक वाले आपकी अर्जी को स्वीकार करेंगे इसलिए समय-समय पर अपने सारे लोन चूक रहे ताकि अगर ऐसी स्थिति आपके साथ हो जाती है तो बैंक वाले आपका रिकॉर्ड देखते हुए आपके लीन अमाउंट के अर्जी को तुरंत स्वीकार कर ले और आप अपने लीन अमाउंट को बाहर निकाल पाए।


Lien Account Meaning in Hindi SBI 

लीन अकाउंट या फिर लीन अमाउंट क्या होता है दोस्तों अगर बात की जाए एसबीआई की तो एसबीआई बैंक दुनिया का सबसे नंबर वन बैंक है और इस बैंक में कई सारे लोगों का खाता मौजूद है अगर आपका भी अकाउंट एसबीआई में है और आपके बैंक अकाउंट में लीन अमाउंट लगा दिया गया है तो आप जरूर सोचेंगे कि आखिरकार यह लीन अमाउंट होता क्या है और ऐसा बैंक क्यों हमारे साथ करती है।

तो इसका बहुत ही साधारण सा जवाब है लीन अमाउंट या फिर ली अकाउंट उसे कहते हैं जिस अकाउंट पर बैंक के द्वारा Lock लगा दिया जाता है अगर आसान भाषा में समझाऊं तो आपके बैंक खाते में कुछ राशि को बैंक के द्वारा लीन अमाउंट में लगा दिया जाता है और अब आप उसे राशि को बाहर नहीं निकल पाओगे या फिर उसका ट्रांजैक्शन नहीं कर पाओगे।

बैंक ऐसा क्यों करती है बैंक ऐसा इसलिए करती है क्योंकि मान लीजिए आपके बैंक खाते से हर महीने किसी वस्तु के लिए EMI जाती है और इस महीने आपकी बैंक खाते से उसे वास्तु के लिए EMI नहीं काटी है या आपके बैंक खाते में उतना पैसा मौजूद नहीं था किस वजह से बैंक आपके अकाउंट को लीन अमाउंट में लगा देती है।


How to Remove Lien Amount in SBI 

SBI से लीन अमाउंट हटाने के लिए सबसे पहले तो आपको SBI के सभी बकाया Loans और EMI का भुगतान करना होगा अगर आपने ऐसा नहीं किया तो एसबीआई बैंक के द्वारा आपकी लीन अमाउंट को बिल्कुल भी नहीं हटाएगा इसलिए समय-समय पर आप अपने सारे बकाया लोन को पूरा करते रहे जिसकी वजह से एसबीआई बैंक द्वारा आपके लीन अमाउंट की अर्जी को शिकार करेगा और उसे जल्द से जल्द हटा देगा।


FAQs on Lien Account Meaning in Hindi

Q1. लीन अमाउंट का मतलब क्या होता है?

लीन अमाउंट का मतलब यह होता है कि अगर आपके बैंक खाता में धनराशि मौजूद है और बैंक वालों ने उसे धनराशि को अपने अंदर जमा कर लिया है जिसे कि आपके बैंक खाते को बैंक द्वारा लॉक कर दिया गया है उसे लीन अमाउंट कहते हैं और अक्सर ऐसा इसलिए होता है जब आप बैंक से लिए हुए लोन को समय पर नहीं चुके हैं इसके वजह से बैंक आपके धनराशि को और बैंक अकाउंट को लीन अमाउंट में लगा देता है।

Q2. मैं अपने बैंक खाते से ग्रहणधिकार कैसे निकाले?

आपको अपने बैंक खाते से लीन अमाउंट निकालने के लिए सबसे पहले आपको अपने बैंक के ब्रांच में जाना होगा और लीन अमाउंट निकालने की एक अर्जी बैंक वाले को देना होगा अगर आपका रिकॉर्ड अच्छा रहा है और आप समय-समय पर अपने सारे लोन चुके आए हैं तो आपकी अर्जी को स्वीकार कर ली जाएगी और आप अपने लीन अमाउंट को पड़े आसानी से निकाल पाएंगे।

Q3. SBI में ग्रहणधिकार राशि क्या है?

SBI में ग्रहणधिकार राशि निकालने के लिए सबसे पहले तो आपको SBI के सारे पुराने Loans और EMI चुकाने होंगे तभी जाकर आप अपने लीन अमाउंट को एसबीआई बैंक के द्वारा निकल पाओगे।


Conclusion on Lien Account Meaning in Hindi

तो दोस्तों, आज हमने इस आर्टिकल में लीन अकाउंट क्या होता है और लेन अकाउंट को कैसे निकाला जाता है (Lien Account Meaning in Hindi) इस बारे में ढेर सारी जानकारी हमने हासिल की अगर आपके भी बैंक अकाउंट को ली अकाउंट में लगा दिया गया है तो आप मेरे बताए गए इन तरीकों का इस्तेमाल जरूर करें आपके लीन अमाउंट को बैंक हटा देगी और आप बड़े आसानी से अपने लीन अमाउंट को बाहर या उसका ट्रांजैक्शन कर पाएंगे।

Leave a Comment